poultry farming project
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

poultry farming project भारत में किसानों की मदद के लिए सरकारें कई तरह की योजनाएं चलाती हैं, इसी तरह की एक योजना है ‘पशु किसान क्रेडिट कार्ट योजना’ जिसके तहत पशु क्रेडिट कार्ड पर बिना गारंटी के किसानों को 1,80,000 रुपये तक का लोन मिल जाता है.

ये योजना खासतौर से उन ग्रामीण किसानों के लिए शुरू हुई थी जो पशुपालन का भी काम करते हैं. इस योजना की मदद से वो गाय, भैंस, मुर्गी और बकरी तक को खरीदने के लिए लोन ले सकते हैं.

poultry farming project

👉अभी उठाये योजना का लाभ👈

लोन लेने के लिए क्या डॉक्यूमेंट लगेंगे

जो भी किसान पशुपालन के लिए लोन लेना चाहते हैं वो इस योजना के तहत अप्लाई कर सकते हैं. किसान चाहें तो इसके लिए ऑफलाइन और ऑनलाइन माध्यम से अप्लाई कर सकते हैं. अगर आप ऑफलाइन अप्लाई करना चाहते हैं तो आपको अपने नजदीकी बैंक से एक फॉर्म लाना होगा और उसे जरूरी डॉक्यूमेंट्स के साथ भर कर जमा करना होगा. इसके लिए लगने वाले डॉक्यूमेंट्स की बात करें तो इनमें- पशुओं का हेल्थ सर्टिफिकेट, बीमित पशुओं पर लोन, पशु की खरीद पर लोन, बैंक का क्रेडिट स्कोर/Loan History, आवेदक का आधार कार्ड , पैन कार्ड , वोटर आईडी कार्ड, मोबाइल नंबर और पासपोर्ट साइज फोटो लगेगा.

ये बैंक दे रहा आपको 15 लाख तक का पर्सनल लोन, अभी करे आवेदन

बहुत कम दर पर मिलता है लोन poultry farming project

इस योजना के तहत मिलने वाले लोन के साथ सबसे अच्छी बात ये है कि इसमें आपको सिर्फ 4 फीसदी ही ब्याज देना पड़ता है. जबकि अगर आप प्राइवेट बैंकों से पशुपालन के लिए लोन लेते हैं तो आपको 7 फीसदी तक ब्याज भरना पड़ता है.

👉क्लिक करे और जाणे पुरी जानकारी👈

किन किन पशुओं पर कितना मिलता है लोन

poultry farming project इस योजना के तहत अलग अलग पशुओं पर अलग अलग राशि मिलती है. जैसे गाय पर आपको 40000 हजार तक लोन मिल जाता है. जबकि भैंस पर आपको 60000 हजार तक लोन मिल जाता है. वहीं भेंड़ बकरी पर आपको 4000 से ऊपर का लोन मिल जाता है और मुर्गी पर आपको 700 रुपये से ऊपर का लोन मिल जाता है. वहीं अगर कोई सूअर खरीदना चाहता है तो इसके लिए उसे 16000 रुपये से ज्यादा का लोन मिल जाता है.

210 रुपए में मिलेगी 5 हजार रुपए की पेंशन जानें इससे जुड़ी खास बातें

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!